Press "Enter" to skip to content

कल देखा जाएगा ईद का चांद अलविदा की नमाज के साथ रमजान मुबारक के आखिरी जुमा

अलविदा की नमाज के साथ रमजान मुबारक के आखिरी जुमा में शुक्रवार को माहे मुबारक का भी ऐलान किया जाएगा। यह लॉकडाउन के कारण पहली बार होगा जब मस्जिदों के बजाय घरों में अलविदा की नमाज अदा की जाएगी। अलमा ने गुडबाय को कुद्स दिवस के रूप में मनाने और इज़राइल का ऑनलाइन विरोध करने की अपील की है। साथ ही, अलविदा की नमाज में बैतूल मामले को सुरक्षित करने और कोरोनावायरस को खत्म करने की अपील भी की गई।

ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने कहा कि इस्लामी शरीयत में मस्जिद-ए-हरम और मस्जिद-ए-नबवी के बाद मस्जिद-ए-अक्सा सबसे ज्यादा मस्जिद हैं, जो कि क़िबला-ए-टॉपर हैं मुसलमानों। मौलाना ने कहा कि बैतुल मुक़द्दस वह मुबारक और पाकीज़ा स्थान है, जहाँ महान नबी आराम कर रहे हैं। यहीं पर पैगंबर-ए-इस्लाम हजरत मोहम्मद साहब ने मेराजबीबी के मौके पर सभी नदियों के इमामत की।

इस्लामी केंद्र में ऑनलाइन कुरान सम्मेलन

इस्लामिक सेंटर ऑफ़ इंडिया फ़ारंगी महल ने कुरानी महफ़िल का ऑनलाइन आयोजन किया। मौलाना जफरुद्दीन नदवी, कारी तारिकुल इस्लाम और कारी अब्दुल है रशीद फरंगी महली विद्यार्थी कक्षा -6 लामार्टीनियर कॉलेज, ने रोजाना कुरान करीम के दो पार किए। मौलाना नदवी ने कुरान की आयतों का संक्षिप्त पैटर्न इस्तेमाल किया। रमजान के 27 वें दिन गुरुवार को ऐशबाग ईदगाह में कुरानी महफिल का आयोजन किया गया।

कल ईद का चाँद निकले गया

मरकजी चांद कमेटी के अध्यक्ष और ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महाली ने 23 मई शनिवार को मुसलमानों से ईद का चांद देखने की अपील की। चांद दिखने पर मौलाना ने कमेटी अध्यक्ष को गवाही देने के लिए बुलाया। वहीं, इदारा-ए-शरिया फरंगी महल के अध्यक्ष मौलाना अबुल इरफान मियां फरंगी महाली ने भी शनिवार को ईद पर चांद देखने की अपील की है।

More from coronavirusMore posts in coronavirus »
More from Latest NewsMore posts in Latest News »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *